नौकरी मैनेजमेंट

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में करियर

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में करियर

मौजूदा समय में ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट करियर के एक उभरते क्षेत्र के रूप में अपनी पहुंच बना चुका है और युवाओं को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट यानी कि मानव संसाधन प्रबंधन में करियर के बारे में जाने से पहले के जानना जरूरी है कि आखिर ह्युमन रिसोर्स (एच आर) होता क्या है तथा ये लोकप्रिय क्यों होने लगा? दरअसल, 1990 के बाद से औद्योगीकरण और वैश्वीकरण की प्रक्रिया ने जब ज़ोर पकड़ा तब बड़े-बड़े उद्योग अस्तित्व में आए। इनमें काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या काफी अधिक होती थी। ऐसे में कर्मचारियों का लेखा-जोखा रखने तथा उनसे संबंधित अन्य मुद्दों के निपटान के लिए मानव संसाधन प्रबंध विभाग की जरूरत महसूस होने लगी। इसके अलावा ये जानना जरूरी है कि एचआर डिपार्टमेंट आखिर क्या काम करता है। दरअसल, एचआर डिपार्टमेंट का किसी भी संस्था में महत्त्वपूर्ण स्थान होता है क्योंकि यह कर्मचारियों से संबंधित मामलों को देखता है। यह संस्थाओ में इन कर्मचारियों की सुविधा, उनके बीच कामों का बटवारा, उनकी सैलरी तय करना जैसे कामों को तय करता है इसीलिए यदि मौजूदा समय मे किसी भी संस्था पर गौर फ़रमाएं तो सभी संस्थाओं में एक ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट डिपार्टमेंट देखा जाता है। लेकिन इस डिपार्टमेंट का काम सिर्फ कर्मचारियों तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह तकनीकी पहलुओं पर भी काम करता है।

आप ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में करियर ऐसे बना सकते है

मानव संसाधन प्रबंधन में करियर बनाने के लिए सबसे पहले किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट का कोर्स करना होता है। यह कोर्स एचआर में एक नीव की तरह काम करता है। इसमें मानव संसाधन से जुड़े सभी पहलुओं की शिक्षा छात्र को दी जाती है। हालांकि यह कोर्स कई स्तरों पर होता है जैसे-

डिप्लोमा स्तर: इसमें आप अपनी 12वी कक्षा पूरी करने के बाद डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं।

डिप्लोमा स्तर पर दाखिला लेने के लिए हर राज्य के पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते हैं।

स्नातक स्तर: इसके तहत 12वीं में न्यूनतम 50 फ़ीसदी अंक हासिल करने होते हैं जिसके बाद ही स्नातक स्तर में दाखिला लिया जा सकता है। निम्न विश्वविद्यालयों में परीक्षा दी जा सकती है:-

  • IPMAT 2018
  • NPAT 2018
  • AIMA UGT 2018
  • GGSIPU CET BBA 2018
  • सिम्बायोसिस प्रवेश परीक्षा (SET)
  • डीयू काट

स्नातकोत्तर स्तर: इस स्तर पर पहुंचने के लिए अंतिम वर्ष में 50 फ़ीसदी अंक तथा किसी भी एआईसीटीई मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री लेनी जरूरी होती है। इसके लिए निम्न में कोर्स होते है:-

  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन हुमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन हुमन रिसोर्स डेवलपमेंट
  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन पर्सनल मैनेजमेंट एंड इंटरनेशनल बिजनेस

डॉक्टररेट स्तर: इसके लिए एआईसीटीई मान्यता प्राप्त संस्था विद्यालय से मानव संसाधन प्रबंधन में मास्टर की डिग्री लेना अनिवार्य होता है।

प्रवेश परीक्षा: एचआर में दाखिला प्रवेश परीक्षाओं के द्वारा भी लिया जाता है। इसके लिए जितने अंक आप प्रवेश परीक्षाओं में अर्जित करेंगे, उसके आधार पर ही आपका चयन किया जाएगा।

इसके अलावा एचआर मैनेजमेंट में दिलचस्पी रखने वाले छात्र इन संस्थाओं से कोर्स कर सकते हैं:-

  • एमिटी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, नई दिल्ली
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पर्सनल मैनेजमेंट, मुंबई
  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, मुंबई
  • मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, इंफाल
  • देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, इंदौर

एचआर मैनेजमेंट उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो शारीरिक परिश्रम की जगह मानसिक परिश्रम करने में समर्थ है, क्योंकि एच आर मैनेजर के दिमाग से ही संस्था का प्रबंधन होता है। ऐसे में एचआर मैनेजमेंट करियर के क्षेत्र में एक बेहतर विकल्प के रूप में उभर रहा है तथा कई युवाओं को आकर्षित कर रहा है। मौजूदा समय में यह मांग नहीं बल्कि एक जरूरत बन चुका है।

About Author

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *