College मैनेजमेंट

बी.बी.ए के बाद करियर विकल्प

बी.बी.ए के बाद करियर विकल्प

बीबीए करने के बाद करियर विकल्प जानने से पहले यह जानना आवश्यक है कि आखिर बीबीए होता क्या है। दरअसल, बीबीए यानी कि बैचलर्स इन बिजनेस मैनेजमेंट। यह उन छात्रों के लिए उपयुक्त है जिनके अंदर बिज़नस माइंड है तथा वे व्यवसाय करना चाहते हैं। 12वी के बाद जैसे छात्र कईं कोर्सेज में एडमिशन लेते हैं। वैसे ही वे बीबीए में भी ले सकते है। यह कोर्स 3 साल का होता है जिसमें 6 सेमेस्टर होते हैं। जब छात्र कोर्स पूरा कर लेते है, तब उनके दिमाग में यह सवाल आता है कि बीबीए के बाद क्या करें? या फिर ऐसे कौन-से करियर विकल्प है जो वे अपना सकते हैं। बीबीए में करियर बनाने के 2 तरीके होते हैं। पहला तरीका यह है कि यदि आपको पढ़ाई में रुचि है तो आप आगे की पढ़ाई कर सकते हैं और यदि आप पढ़ाई न करके अब पैसे कमाने की राह पर दौड़ रहे हैं, तो आप बीबीए के बाद किसी भी प्राइवेट या सरकारी सेक्टर में नौकरी कर सकते हैं।

बीबीए के बाद आगे की पढ़ाई में करियर

इस कोर्स में ग्रेजुएशन करने के बाद छात्र यदि आगे भी पढ़ना चाहते हैं तो वह मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) कर सकते हैं, क्योंकि MBA के लिए 2 साल और पढ़ना होगा। लेकिन इसे करने का फायदा यह होगा कि यह आपके करियर के द्वार खोलेगा। साथ ही, फिर एमबीए करके नौकरी की तलाश करने वाले व्यक्ति को निसंदेह जॉब के ज्यादा ऑफर्स मिलेंगे। इसके साथ ही उसे नौकरी में अच्छी खासी सैलरी भी मिलेगी। एमबीए के अलावा भी आप निम्नलिखित को कोर्सेज कर सकते हैं, जैसे-

पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (पीजीडीएम)

बीबीए करने के बाद छात्रों के पास दो विकल्प होता है। वह या तो वह एमबीए करें या फिर 1 साल का डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। एमबीए कोर्स के मुकाबले पीजीडीएम कोर्सेज में एडमिशन जल्दी मिल जाता है। वही जहां एमबीए कोर्सेज 2 साल के होते हैं वही पीजीडीएम कोर्सेज 1 साल के होते हैं। यानी कि इस कोर्स को करने से आपका एक साल बच जाता है। इसके साथ ही कंपनियां भी इस कोर्स को काफी तवज्जों देती है।

मास्टर इन मैनेजमेंट स्टडीज (एमएमएस)

एमएमएस यानी कि मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री का कोर्स विभिन्न मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों द्वारा भी दिया जाता है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए जरूरी नहीं की आपने बीबीए में ग्रेजुएशन किया हो। क्योंकि किसी भी विषय में ग्रेजुएट छात्र इस में एडमिशन ले सकता है। इस कोर्स की यह विशेषता है कि यह आपको एंटरप्रेन्योरशिप स्किल्स की ट्रेनिंग देता है।

बीबीए के बाद नौकरी के अवसर

बीबीए से ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद यदि छात्र नौकरी करना चाहते हैं तो वह नौकरी भी हासिल कर सकते हैं। बीबीए करने के बाद जॉब दो तरह के मिलते हैं। एक तो प्राइवेट सेक्टर में और एक सरकारी सेक्टर में।

गवर्नमेंट सेक्टर में भी आप कई नौकरी पा सकते हैं, जैसे कि आप जानते ही हैं कि गवर्नमेंट सेक्टर में प्राइवेट सेक्टर के मुकाबले कम पैसा है। लेकिन यह आपको नौकरी की सुरक्षा देता है तथा काम की स्टेबिलिटी भी प्रदान करता है। सरकारी सेक्टर में काम विभिन्न अकाउंटेंसी और फाइनैंशल इंस्टिट्यूशन द्वारा दिए जाते हैं।

प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने के लिए आप में बेहतर स्किल्स होना अनिवार्य है। इसके अलावा प्राइवेट सेक्टर में नौकरी सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है, क्योंकि यह अच्छी सैलरी पैकेज उपलब्ध करवाती है। जबकि सरकारी नौकरी में इसके मुकाबले कम सैलरी होती है।

एमबीए ग्रैजुएट्स प्राइवेट सेक्टर में निम्नलिखित नौकरियां कर सकते हैं, जैसे-

  • डिजिटल मार्केटिंग
  • फाइनेंस इंश्योरेंस
  • मीडिया
  • मैन्युफैक्चरिंग
  • एडवरटाइजिंग
  • बैंकिंग
  • इंटरटेनमेंट

इसके अलावा दोनों सेक्टर में यदि मिले-जुले नौकरियों की बात करें तो उनमें निम्नलिखित नौकरियां मिलती हैं, जैसे कि-

  • ट्रैवल मैनेजमेंट
  • सेल्स एन्ड मार्केटिंग मैनेजमेंट
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • सोशल सप्लाई चैन मैनेजमेंट
  • सेल्स एंड मार्केटिंग मैनेजमेंट।
About Author

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *