एडिटर करियर

कुछ ऐसे तरीके जिनसे आप अपने पढ़ाई करने की क्षमता को कई गुना बढ़ा सकते

कुछ ऐसे तरीके जिनसे आप अपने पढ़ाई करने की क्षमता को कई गुना बढ़ा सकते

किसी भी की परीक्षा में अच्छे अंक हासिल करना हर किसी का सपना होता है। लेकिन इस सपने को सच करने के लिए अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाना जरूरी होता है, क्योंकि हर परीक्षा के लिए प्रत्येक विद्यार्थी के पास एक समान समय होता है, लेकिन इसी समय के सदुपयोग से कुछ विद्यार्थी जहां परीक्षा में अच्छे अंक ले आते हैं तो कई अनुत्तीर्ण रह जाते हैं। इसीलिए जरूरी है ऐसे तकनीकों और तरीकों को अपनाना जिनसे आप अपने पढ़ाई करने की क्षमता को कई गुना बढ़ा सकें। नीचे कुछ ऐसे तरीकों का उल्लेख किया जा रहा है। इन तरीकों का पालन कर आप परीक्षाओं में अच्छे परिणाम हासिल कर सकेंगे।

  • योजना और समय सारणी बनाना

अपने पढ़ाई की क्षमता में वृद्धि के लिए योजना बनाना जरूरी होता है। योजना बनाने से हमें पता चल जाता है कि उस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए हमें कितना समय व कितनी मेहनत करनी है। योजना निर्माण के लिए छात्र समय सारणी बना सकते हैं, जिसमें यह तय करना होता है कि हमें परीक्षा के लिए कितनी देर पढ़ना है, कितने विषयों पर ज्यादा ध्यान देना है तथा वह कौन से विषय हैं जो हमारे लिए कठिन है और उनमें ज्यादा समय दिया जाना जरूरी है। इससे आप निश्चित समय सीमा के भीतर ही अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं तथा परीक्षा के समय भय और तनाव स्थिति से बच सकते हैं।

  • अध्ययन के समय का निर्धारण और समय प्रबंधन

अध्ययन के समय का निर्धारण करना और समय प्रबंधन बेहद आवश्यक है, क्योंकि यह जरूरी नहीं है कि हर छात्र का एक ही समय में पढ़ाई में मन लगे इसीलिए उचित समय निर्धारण आवश्यक हो जाता है। इसके साथ ही, कई विद्यार्थियों को स्कूल, कॉलेज व ऑफिस के साथ ही अपनी पढ़ाई को करना होता है इसीलिए यदि वे उस समय को निश्चित करें जिसमें वह पूरी तरह से फ्री हो तो बेहतर रहता है।

यदि आप समय का कुशलता से प्रबंधन नहीं करेंगे तो आप अपना वक्त बर्बाद ही करेंगे इसलिए जरूरी होता है कि अपनी पढ़ाई के लिए समय का प्रबंधन करें तथा अपनी परीक्षा से कुछ समय पहले ही पढ़ाई करना शुरू कर दें।

  • नोट्स बनाएं

शुरू से ही यदि छात्र विभिन्न विषयों पर नोट्स बनाने लगते हैं तो परीक्षा के समय उन्हें ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता। नोट्स बनाते समय महत्वपूर्ण बिंदुओं को या तो अंडरलाइन करें या फिर उन्हें हाईलाइट कर दे, जिससे जल्दबाजी में भी पढ़ते समय महत्वपूर्ण बिंदुओं पर जल्द नजर पड़े और उन्हें याद रखा जा सके। वहीं परीक्षा से 1 दिन पहले कुछ संक्षिप्त नोट बना ले तथा उन्हें उसी दिन पढ़कर याद कर ले।

  • हार्ड वर्क से ज्यादा स्मार्ट वर्क पर ध्यान दें

इसमें कोई दो राय नहीं है कि पढ़ाई की क्षमता में वृद्धि करने के लिए कड़ी मेहनत आवश्यक है। लेकिन हार्ड वर्क हर व्यक्ति करता है इसीलिए स्मार्ट वर्क करना भी जरूरी होता है। विषयों को शब्दतः याद करने से है एक लंबा समय तो लगेगा ही तथा इस तकनीक से परीक्षा के समय भूलने की ज्यादा संभावना रहती है इसलिए स्मार्ट वर्क करना जरूरी होता है। किताब की भाषा की जगह यदि विद्यार्थी अपनी भाषा का उपयोग परीक्षा में करेंगे तो वह बेहतर अंक हासिल कर सकते हैं क्योंकि ऐसे पेपर प्रशिक्षक को भी आकर्षित करते हैं।

  • शिक्षकों और दोस्तों की मदद ले

यह जरूरी नहीं होता कि हर कोई हर विषय में कुशल हो कई बार विद्यार्थियों को कई ऐसे विषय समझने में कठिनाई होती है जिससे वह तनाव और स्ट्रेस में चले जाते हैं। लेकिन इस स्थिति से बचने के लिए उन्हें अपने शिक्षकों की मदद लेनी चाहिए। क्योंकि शिक्षक के पास जितना ज्ञान और अनुभव होता है उतना छात्र के पास नहीं होता। शिक्षक अपने स्तर पर सुझाव, मार्गदर्शन और प्रेरणा देते हैं जिससे आप परीक्षा की अवांछित चिंताओं और तनाव से मुक्त होकर पढ़ाई पर ध्यान दे सकते हैं।

About Author

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *